एफडी आई के विरोध में व्यापारियों ने किया प्रदर्शन रैली निकाली

होशंगाबाद विदिशा , राजगढ ,अशोकनगर , सागर ,छतरपुर 01 दिसम्बर नससं. केन्द्र सरकार द्वारा खुदरा व्यापार क्षेत्र में एफडीआई को मंजूरी दिये जाने के विरोध में  आयोजित बंद का आज प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में  मिला जुला असर देखा गया विभिन्न स्थानोंपर व्यापारिक प्रतिष्ठान और बाजार बंद रहे . लेकिन शाम के समय कई जगहों पर बाजार खुल गये थे.बंद समर्थक ने रैलिया निकाली और केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की .बंद के मद्देनजर. सभी जगहों पर सुरक्षा के व्यापक बंदोबस्त किये गये थे.

होशंगाबाद में  जयस्तंभ चौक पर इंडिया नेशन यूथ फोर्स व फेस बुक ग्रुप एवं स्वेदशी जागरण मंच के दर्जनों कार्यकर्ताओं ने वालमार्ट का पुतला दहन किया एवं केन्द्र की यूपीए नीत कांग्रेस सरकार को कोसते हुये जमकर नारेबाजी की. राजगढ  में विभिन्न व्यापारिक संगठनों, भाजपा नेताओं ने नगर में भ्रमण कर एनाउंस द्वारा अपने व्यापारिक प्रतिष्ठïन बंद करने का आग्रह किया. पीपल चौराहे पर हुई सभा में वक्ताओं ने केन्द्र सरकार के इस निर्णय का जबर्दस्त विरोध करते हुए कहा कि कहा कि विदेशी कंपनियों को बाजार में आकर व्यापार करने की मंजूरी दिया जाना व्यापारियों, आम नागरिकों एवं देश हित में नहीं है. बंद होने से इस बात से अनभिज्ञ ग्रामीण जहॉ नगर में खरीदारी के लिए परेशान होते देखे गए, वहीं रोजमररा में दुकानों पर अपना समय बीताने वाले व्यापारी छुट्टी का लूफ्त उठाते देखे गए. इस दौरान शैक्षणिक संस्थानों की भी छुट्टी होने पर स्कूली बच्चे भी छुट्टी का मजा लेते नजर आए. नरसिंहगढ़ में  होटले, पान की दुकाने भी पूरी तरह बंद होने के कारण लोग गुटखा चाय, पानी के लिए भी तरस गए वही बाजार बंद होने के कारण दिन भर सड़को पर सन्नाटा पसरा रहा.  विदिशा में बंद का व्यापक असर  सुबह से हीकृषि उपज मंडी, कपड़ा, किराना, इलेक्ट्रॉनिक्स, ऑटो पार्टस, खाद्य प्रतिष्ठïन, सर्राफा एवं अन्य कारोबारियों की दुकानें बंद रहीं. रायसेन में भाजपा के तत्वावधान में एफडीआई का पुतले को फांसी पर लटकाया गया एवं विदेशी निवेशकों के विरूद्ध जमकर नारेबाजी करते हुए केंद्र सरकार का विरोध कियाइटारसी  बंद  को मिला जुला समर्थन मिला.

इस बंद से डाक्टर दवा दुकाने, फल, सब्जी, चाय पान एवं शिक्षण संस्थाओं को मुक्त रखने की घोषणा कर दी गई थी. इसके चलते कपड़ा किराना सराफा सहित अन्य दुकाने आज सुबह से ही बंद रही लेकिन दोपहर बाद इनमें से अधिकांश दुकाने खुल गई. चूंकि आज नगर में साप्ताहिक बाजार का दिन था इसलिये सुबह दूर दराज ग्रामीण अंचलों से खरीदी के लिये आये लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा किंतु दोपहर बाद दुकाने खुलने से बाजार में सामान्य स्थिति बन गई.अशोकनगर।  में व्यापारियों ,भारतीय जनता पार्टी एवं बहुजनसमाज पार्टी द्वारा आयोजित भारत बंद का जिलामुख्यालय पर कोई असर देखने को नही मिला और प्रतिदिन की तरह समूचा बाजार खुला हुआ देखा गया। शहर में एक दिन पूर्व भी किसी भी संगठन द्वारा बाजार बंद की घोषणा नही की गई थी परन्तु लोगों को सन्देह था कि देशभर में राजनैतिक पार्टी वीजेपी एवं बहुजन द्वारा इस भारतबंद को समर्थन दिया जा रहा है तो निश्चित ही नगर में भी संगठनों द्वारा दुकाने बंद कराई जायेगी। और संगठनों की इसी शंका के कारण दुकानदारों ने सुबह के वक्त डरते हुये अपनी -अपनी दुकाने खोली। उन्हे डर लग रहा था कि कहीं बाजार बंद कराने बाले संगठन न आ जाये और हमें दुकाने बंद करनी पड़े। और उनका यह नजारा अलग ही निकला जब सुबह १० बजे तक शहरभर में कहीं भी कोई विरोध प्रदर्शन देखने को नही मिला तो समूचे शहर की दुकाने खुलना प्रारंभ हो गयी। वहीं दूसरी ओर देशव्यापी बंद को देखते हुये पुलिस प्रशासन द्वारा सुरक्षा के कड़े बन्दोवस्त किये गये।और शहर के प्रमुख चौराहो पर पुलिसबल तैनात किया गया। तो वहीं गांधी पार्क चौराह पर बज्र वाहन के साथ पुलिस बल तैनात किया गया। छतरपुर.   में   भारत बंद   का  असर  70  फीसदी  तक  रहा. व्यापारियों  ने  चौक  बाजार  सहित  अन्य  क्षेत्रों  में  दोपहर  तक  ही  प्रतिष्ठïन  बंद  रखे.

भाजपा ने भारत बंद का आह्वान किया था. पार्टी के व्यापारी प्रकोष्ठï के जिला संयोजक  के  नेतृत्व में एक दिन पहले बैठक आयोजित कर व्यापारियों से अपील की गई थी  सभी लोग अपने प्रतिष्ठïान बंद रखें. आज सुबह से ही  दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद रखीं. जिला मुख्यालय में खासतौर पर चौक बाजार, गल्ला मंडी, बजरिया, हटवारा, महल रोड, बस स्टैण्ड इलाके में दुकानें बंद रखीं  गईं. लेकिन  छत्रसाल चौराहे के पास संचालित दुकानदारों पर खास असर नहीं पड़ा. देखा गया कि सुबह 11 बजे के बाद से चाय-पान सहित किराना, चक्की आदि की दुकानें सामान्य तौर पर खुली हुईं थीं.  सागर, . केन्द्र सरकार द्वारा विदेशी व्यापार को भारत में अनुमति देने और व्यापारियों से भेदभाव करने के विरोध में गुरूवार को भाजपा, भाजयुमो तथा भाजपा व्यापारी प्रकोष्ठï के तत्वावधान में सागर बंद रखकर रैली निकाली गई. बाद में नगर दण्डाधिकारी को ज्ञापन सौंपा गया.शाजापुररिटेल मार्केटिंग में विदेशी कंपनियों के प्रवेश को छोटे से लेकर बड़े व्यापारियों ने एक मत होकर खारिज कर दिया.भारत बंद का आह्वान भी नगर में सफल रहा और सभी व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रख इसका समर्थन भी किया. इसके बाद एसडीएम अवधेश शर्मा को ज्ञापन सौंपा गया.

Related Posts: