अपने बयान पर कायम हैं मंत्री बेनीप्रसाद वर्मा

नई दिल्ली/लखनऊ, 20 अगस्त. केंद्रीय इस्पात मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा की सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव और बढ़ती महंगाई पर टिप्पणी से विपक्ष और समाजवादी पार्टी यूपीए से बेहद नाराज है। सपा ने यूपीए सरकार से अपने मंत्री की टिप्पणी पर स्पष्टीकरण मागा है। उल्लेखनीय है कि बाराबंकी में बेनी प्रसाद वर्मा ने एक कार्यक्रम के दौरान पत्रकारों से कहा था कि वे बढ़ती महंगाई से खुश हैं क्योंकि इससे किसानों को फायदा होता है।

केंद्र में मुख्य विपक्षी भारतीय जनता पार्टी [भाजपा] पार्टी, उत्तर प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी बहुजन समाज पार्टी [बसपा] एवं उत्तर प्रदेश की ही सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी [सपा] और जद यू ने मंत्री के बयान की कड़ी निंदा की और केंद्र सरकार को महंगाई माफिया का एक हिस्सा बताया। गौरतलब है कि बाराबंकी में रविवार को एक कार्यक्रम के इतर मौके पर महंगाई पर टिप्पणी के लिए पूछे जाने पर संवाददाताओं से बेनी ने कहा कि कीमतों के बढऩे से किसानों को फायदा हो रहा है। आज दाल, आटा, सब्जी सभी चीजें महंगी हो गई हैं। मैं इस महंगाई से खुश हूं। साथ ही उन्होंने कहा कि जितनी अधिक कीमतें बढ़ेगी, उतना ही किसानों के लिए अच्छा होगा। बेनी प्रसाद वर्मा ने सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव पर दिए अपने विवादास्पद बयान के बाद सोमवार को अपनी पार्टी लाइन से इतर कह डाला कि 2014 का चुनाव गुजरात के सीएम नरेंद्र मोदी और कांग्रेस पार्टी के महासचिव राहुल गांधी के बीच होगा।

बयान पर बवाल

मंत्री के बयान पर भारतीय जनता पार्टी [भाजपा] पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं राष्ट्रीय उपाध्यक्ष कलराज मिश्र ने कहा कि कांग्रेस किसानों के साथ क्रूर मजाक कर रही है। बेनी प्रसाद के बयान की जितनी निंदा की जाए, कम है। बसपा ने भी बेनी के बयान को हास्यास्पद बताया। बसपा के एक नेता ने कहा कि बेनी ने काफी हास्यास्पद बयान दिया है। उनके इस बयान से किसानों और लोगों के प्रति कांग्रेस की सोच झलकती है। वहीं, राज्य में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी [सपा] के प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कहा कि बेनी के बयान से यह स्पष्ट होता है कि केंद्र की संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन [संप्रग] सरकार किसानों के बारे में क्या सोचती है। चौधरी ने कहा कि कांग्रेस को इस बारे में सोचना चाहिए कि बेनी प्रसाद जैसे लोगों को मंत्री बने रहना चाहिए या नहीं।

उधर, भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन ने कहा कि भले ही सरकार यह दावा करती रही है कि वह आम आदमी के लिए काम करती है, लेकिन मंत्री के बयान से साफ है कि वह आम आदमी से काफी दूर हो चुकी है। भाजपा के ही मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि यह निश्चित है कि जब बेरोजगारी है और किसान खुदकुशी कर रहे है, तो स्वाभाविक है कि महंगाई का मोगाम्बो खुश होगा। नकबी ने कहा, सरकार इस महंगाई माफिया की सदस्य हो गई है। इसलिए जब आम आदमी जब महंगाई की बात कहता है, तो वह खुश होती है। इसके अलावा जद यू के शिवानंद तिवारी ने भी बेनी प्रसाद वर्मा के बयान की निंदा की।

क्या कहा था बेनी ने

मुलायम सिंह पगला गए हैं सठिया गए हैं! इनका कभी जिन्दगी में सपना पूरा नहीं होगा। दिल्ली में सरकार बनाने का यह कह कर विवादित बयानों के लिए पहले से ही बदनाम बेनी बाबू इस बार हद पार कर गए। विधान सभा चुनावों में मिली करारी हार के बाद खामोश बैठे बेनी प्रसाद वर्मा को फिर मौका मिला। ममता के तेवरों के चलते यूपीए में मुलायम के बढ़े भाव से बेनी बाबू सकते में थे लेकिन मुलायम ने तीसरे मोर्चे का संकेत क्या दिया वर्मा फिर उनके खिलाफ हमलावर हो गए। कांग्रेसी तो सिर्फ तीसरे मोर्चे की संभावना से इनकार ही कर रहे थे लेकिन बेनी प्रसाद वर्मा ने तमाम हदें पार करते हुए मुलायम सिंह यादव को न जाने क्या-क्या कह डाला।

सपा ने मांगा जवाब

समाजवादी पार्टी के नेता और यूपी के नगर विकास मंत्री आजम खान ने केंद्रीय मंत्री बेनी वर्मा पर करारा हमला बोला है. बेनी के महंगाई पर खुशी वाले बयान पर आजम ने कहा कि सोनिया गांधी अपने मंत्रियों की जांच कराते रहना चाहिए. पत्रकारों ने जब आजम से बेनी के मुलायम पर दिए बयान का जिक्र किया गया तो आज़म मे एक पुरानी घटना का जिक्र कर दिया. आजम खान दरअसल यूपी चुनाव के वक्त गोंडा में हुई उस सभा का जिक्र कर रहे थे जब सोनिया की मौजूदगी में भीड़ ने बेनी की जमकर हूटिंग की थी और सोनिया को उन्हें मंच पर बोलने से रोकना पड़ा था.बेनी प्रसाद वर्मा ने महंगाई के अलावा समाजवादी पार्टी अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव पर भी बयान दिया था. समाजवादी पार्टी ने बेनी को कैबिनेट से हटाने की मांग कर दी है. दरअसल बेनी वर्मा से कल पूछा गया था कि मुलायम सिंह तीसरे मोर्चे की सरकार बनाने की बात कर रहे हैं, इस पर बेनी ने कह दिया था कि उनका सपना कभी पूरा नहीं होगा.

समर्थन पर पुर्नविचार करना होगा-सपा

नयी दिल्ली, 20 अगस्त, नससे. केंद्रीय इस्पात मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा द्वारा सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव के ऊपर की गई टिप्पणी पर तिखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए समाजवादी पार्टी नेता मोहन सिंह ने कहा है कि केंद्र सरकार के मंत्री अगर इस तरह से बयान देंगे तो पार्टी को दिए गए समर्थन पर पुर्नविचार करना होगा.

श्री सिंह ने कहा कि सपा के खिलाफ बोलने की आजकल केंद्र सरकार के मंत्रियों एवं नेताओं की आदत हो गई है. उन्होंने श्री प्रसाद के बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि सरकार को ऐसे मंत्रियों पर लगाम लगाने या उनको बाहर करने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि एक ओर सपा केंद्र सरकार को समर्थन दे रही है तो दूसरी ओर उसके मंत्री पार्टी को बदनाम करने में जुटे हैं. उन्होंने कहा कि अगर यही परिस्थितियां रही तो सपा को अपने समर्थन देने के फैसले पर पुर्नविचार करना होगा.

Related Posts: