कुछ दिनों में उसे तिहाड़ की 1 या 4 नंबर जेल में भी शिफ्ट किया जा सकता है

नई दिल्ली. गोपाल गोयल कांडा को रोहिणी जेल के उस सेल में रखा गया है जहां आमतौर पर आतंकवादियों या खतरनाक कैदियों को रखा जाता है. यह सेल जेल के हाई सिक्युरिटी वॉर्ड में है. इसमें कुल 9 सेल हैं, जिसके चार नंबर सेल में कांडा को अकेले रखा गया है. सूत्रों का यह भी कहना है कि कुछ दिनों में उसे तिहाड़ की 1 या 4 नंबर जेल में भी शिफ्ट किया जा सकता है.

एमडीएलआर एयरलाइंस के चेयरमैन गोपाल गोयल कांडा ने गीतिका शर्मा स्यूसाइड मामले में अशोक विहार पुलिस थाने में 18 अगस्त की तड़के 4 बजे सरेंडर किया था. इसके बाद पुलिस ने पहले उसे 7 दिन और बाद में 3 दिन के रिमांड पर रखा. मंगलवार को उसे 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत के तहत जेल भेज दिया गया. पहले यह चर्चा थी कि कांडा को तिहाड़ की दो जेलों में से एक में रखा जाए. इसका कारण था रोहिणी जेल में अलग से कोई सेल न होना. रोहिणी जेल में हाई सिक्युरिटी वार्ड है. इस वार्ड में या तो आतंकवादियों और कुख्यात बदमाशों को रखा जाता है या फिर ऐसे कैदी जिनके जेल ब्रेक करने का डर रहता है.

जेल सूत्रों ने बताया कि कांडा को जेल के अंदर भेजने से पहले उसका मेडिकल कराया गया जिसमें उसका बीपी लो आया. जेल में आने पर वह काफी डरा हुआ लग रहा था. उसकी यहां अधिकारियों ने काउंसलिंग भी की. उसने जेल के अंदर चाय और जेल की बेकरी में बने बिस्किट खाए. रात को उसने जेल की ही दाल रोटी खाई. जेल अधिकारियों का कहना है कि वह रात को सोने की बात को लेकर परेशान दिखाई दिया, मगर उसे जेल के कायदे-कानून के बारे में समझा दिया गया है और यह भी बता दिया गया है कि जेल में रहते हुए उसे अन्य कैदियों से हमला होने का कोई खतरा नहीं है. उसके सेल के आसपास सुरक्षा के इंतजाम भी किए गए हैं. कांडा को सेल में सोने के लिए गद्दा दिया गया है. मच्छरों से बचने के लिए भी वहां इंतजाम कराए गए हैं. इस जेल में 1001 कैदी रखने की क्षमता है. लेकिन इस वक्त करीब 1500 कैदी जेल में बंद हैं. कांडा जेल अधिकारियों को सपोर्ट कर रहा है.

Related Posts: