हैदराबाद, 22 अगस्त. भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने हाल में संन्यास लेने वाले वीवीएस लक्ष्मण के साथ अपने कड़वे रिश्तों को आज यह कहकर हवा दे दी कि इस कलात्मक बल्लेबाज ने अपने आवास पर दी गयी रात्रि पार्टी में उन्हें आमंत्रित नहीं किया.

लक्ष्मण को न्यूजीलैंड के खिलाफ दो टेस्ट मैचों के लिये टीम में चुना गया था लेकिन उन्होंने इससे ठीक पहले संन्यास लेकर सभी को हैरान कर दिया था. तभी से यह सवाल उठने लगा था कि आखिर उन्हें संन्यास लेने के लिये किसने मजबूर किया. लक्ष्मण ने कल शहर के मानिकांडा स्थित अपने आवास पर पार्टी दी थी जिसमें सचिन तेंदुलकर, वीरेंद्र सहवाग, गौतम गंभीर और जहीर खान ने भाग लिया लेकिन उन्होंने धोनी को नहीं बुलाया.

धोनी से जब न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्ट क्रिकेट मैच की पूर्व संध्या पर संवाददाता सम्मेलन में पूछा गया कि क्या लक्ष्मण ने उन्हें न्यौता दिया था तो उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा, ‘नहीं’. भारतीय कप्तान ने इस बात को भी ज्यादा तवज्जो नहीं दी कि लक्ष्मण श्रृंखला से पहले उनसे संपर्क नहीं कर पाये थे ताकि वह संन्यास के अपने फैसले से उन्हें अवगत करा सकें. धोनी ने कहा, ”आपको लगता है कि यह विवाद है लेकिन जो लोग मुझे जानते हैं कि उनकी हमेशा यह शिकायत रहती है कि मैं ऐसा व्यक्ति हूं जिससे संपर्क कर पाना मुश्किल होता है. यही कारण था कि लक्ष्मण भाई मुझसे संपर्क नहीं कर पाये थे. इसमें कोई नयी बात नहीं हैं. मैं इसमें सुधार करने की कोशिश की लेकिन लगता है कि मैं वास्तव में नहीं सुधरा.

Related Posts:

अल्पसंख्यक बालिकाओं के लिये शहरों में बनेंगे छात्रावास
राजधानी में रहेगा सेना का हेलीकॉप्टर तैयार
व्यस्तता के बावजूद डेविस कप में खेलेंगे एंडी मरे
भारत शांति, समानता के लिए प्रतिबद्ध : प्रणव
ईश्वरीय योजना के तहत पीएम बने हैं मोदी, उनके नेतृत्व में ही 21वीं सदी होगी भारत ...
भारत ने जीती लगातार नौंवी सीरीज़, विश्व रिकार्ड बराबर