अविश्वास प्रस्ताव पर हुई चर्चा पर मुख्यमंत्री का जवाब

भोपाल, 1 दिसंबर, नभासं. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य विधानसभा में लाये गये अविश्वास प्रस्ताव पर हुई चर्चा का जवाब देते हुये कहा कि वे म.प्र. को आगे बढ़ाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे. उन्होंने विपक्ष का आव्हान किया कि वह म.प्र. विकास महायज्ञ में आहुति डाले. उन्होंने कहा कि नियम विरुद्घ काम करने वालों पर सख्त कार्यवाही की जायेगी.

सदन में अविश्वास प्रस्ताव को चार दिन चर्चा के पश्चात् मत विभाजन के पश्चात् अस्वीकृत कर दिया गया. अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में 63 एवं विपक्ष में 149 मत पड़े. अपने तीन घंटे के जवाब में मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि शिवराज गलती कर सकता है पर बेईमानी नहीं. वे म.प्र. को विकास एवं जनता के कल्याण वाले रास्ते पर चल रहे हैं. भ्रष्टाचार भाषण से नहीं दृढ़ निश्चय से समाप्त होगा. हमने भ्रष्टाचार दूर करने के प्रयास किये हैं. उन्होंने घोषणा की कि ब्लॉक स्तर पर लोक सेवा केन्द्र खोले जायेंगे तथा अंत्योदय गरीब मेला लगाये जायेंगे.

चौहान ने कहा कि उनके शासनकाल में सरकारी नौकरियों की भरती प्रक्रिया में पूरी पारदर्शिता लाई गई है. उन्होंने जनवरी 2012 से गांवों में 24 घंटे बिजली, हर खेत को पानी, गांव-गांव में गरीबों को सस्ते आवास देने का वायदा किया. चौहान ने कहा कि हम म.प्र. में हमारी सड़कें खराब नहीं रहने देंगे तथा म.प्र. को देश में पहले स्थान पर ले जायेंगे. भाजपा के घोषणा पत्र की 70 फीसदी एवं उनके द्वारा की गई घोषणाओं में से 72 प्रतिशत घोषणायें पूरी की गईं हैं. उनकी सरकार म.प्र. के औद्योगिक विकास में कोई कसर नहीं छोड़ेगी, जो भी उद्योग लगेंगे उसमें 50 प्रतिशत स्थानीय लोगों को रोजगार दिया जायेगा. उनका कहना था कि उनकी सरकार प्रदेश में अवैध उत्खनन को रोकने के लिये कटिबद्घ है. अवैध उत्खनन करने वालों पर कार्यवाही की जायेगी. मुख्यमंत्री ने विपक्ष पर वार करते हुये कहा कि सत्ता में आने के लिये यह अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है. विरोध किया जाये पर प्रदेश के विकास में सब साथ मिलकर काम करें. प्रतिपक्ष सकारात्मक सहयोग करे. उन्होंने कटाक्ष किया कि अब तक तो एक बार में एक अविश्वास प्रस्ताव पर एक ही आरोप पत्र आया करता था. इस बार तो आरोप पत्र के बंडल पर बंडल आ गये.

Related Posts: