वन विहार पर्यटकों के लिये खोला

भोपाल,20 दिसंबर.  वन विहार के अमले ने मानव संग्रहालय से वन विहार में आए पेंथर का सफल रेस्क्यू ऑपरेशन किया है. 19 दिसम्बर को प्रात: 8.30 बजे मानव संग्रहालय से लगी सीमा के नजदीक वन विहार के अंदर एक पेंथर घूमता हुआ दिखाई दिया था.

इसकी सूचना तत्काल ही संचालक वन विहार, सभी इकाई प्रभारियों एवं चिकित्सकों को दे दी गई थी. सूचना मिलते ही वन विहार का स्टाफ रेस्क्यू सेंटर में एकत्रित हो गया था. पेंथर की सर्चिंग हेतु 10 टीमों का गठन कर उन्हें निर्धारित स्थानों पर भेज कर वाहनों से गश्ती प्रारंभ करा दी गई थी. सुरक्षा के दृष्टिकोण से वन विहार को पर्यटकों के लिये बंद कर दिया गया था. पेंथर की सर्चिंग के दौरान उसी दिन दोपहर एक बजे पेंथर लायन हाउसिंग के नजदीक दिखाई दिया. सभी टीमों को बुलाकर उन्हें उसी क्षेत्र में तैनात कर दिया गया ओर पेंथर पर सतत निगाह रखी गई. पेंथर अपरान्ह 3 बजे लायन हाउसिंग में कूदकर वहाँ एक वृक्ष पर चढ़ गया था.

वृक्ष की ऊँचाई एवं पेंथर की स्थिति विपरीत होने के कारण पेंथर को गन द्वारा बेहोश किया जाना संभव न हो सका. योजना के अनुसार लायन की एक हाऊसिंग खाली कराकर उसमें बकरा बाँधा गया एवं स्टाफ से सतत निगरानी करवाई गई. आज प्रात: 4:30 बजे पेंथर वृक्ष से उतरा एवं कुछ देर इंक्लोजर में विचरण करने के बाद प्रात: 6 बजे लायन हाऊसिंग में प्रवेश कर गया. वहाँ नियुक्त स्टाफ द्वारा उसी समय हाऊसिंग का दरवाजा बंद कर पेंथर को अपनी अभिरक्षा में लिया गया. रेस्क्यू किया गया यह वयस्क नर पेंथर पूर्णत: स्वस्थ नजर आ रहा है, जो वन विहार का न होकर खुले वन क्षेत्र से आया है. वन विहार को अब पर्यटकों के लिये खोल दिया गया है.

Related Posts: