भारतीय जनता पार्टी के लिए

भोपाल,3 मई,नभासं.भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष प्रभात झा 8 मई को अपना दो वर्ष का कार्यकाल पूरा कर रहे हैं. तीसरे साल के प्रारंभ में ही महेश्वर विधानसभा का उपचुनाव उनके लिए सबसे बड़ी चुनौती होगा.

खासतौर पर ऐसे में जबकि यह सीट कांग्रेस के पास थी और पिछले तीनों विधानसभा के उपचुनाव भाजपा ने जीते हैं.  इसके बाद 52 नगरीय निकाय के चुनाव जो अनुसूचित जाति वर्ग के लिए आरक्षित निकायों में होना है. साथ ही मंडी चुनाव भी चुनौती होंगे. तीसरी बार सरकार बनाने का बीड़ा उठाए प्रभात झा ने पिछले दो वर्षों में संगठनात्मक दृष्टि से सभी 618 मंडलों का दौरा किया है. बलराम-शिवराज संदेश यात्रा विकास यात्रा के अलावा केंद्र सरकार के खिलाफ अनेक ऐसे आंदोलन किए जिससे संगठन को मजबूती मिली है. अगले महीने महेश्वर विधानसभा का उपचुनाव होना है. झा 15 मई से चुनाव होने तक महेश्वर में ही रहेंगे. 15 मई को ओंकारेश्वर में पार्टी ने एक बैठक आहूत की है.

इस बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के भी शामिल रहने की संभावना है. इस चुनाव के बाद 52 नगरीय निकाय के चुनाव होने है. यह चुनाव 2009 में होने थे. परन्तु कोर्ट के स्टे के कारण नहीं हो सके थे. अब चुनाव का रास्ता साफ  हुआ है तो पार्टी के लिए जीत हासिल करना ही होगा. कल पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी ने महापौर नगर पालिका अध्यक्ष नगर पंचायत के अध्यक्षों की क्लास ली है और विकास को ज्यादा तरजीह देने की बात कही है. मंडी चुनाव भाजपा के लिए मिशन 2013 का रास्ता प्रशस्त करेगा. इंदौर संभाग के संगठन महामंत्री शैलेंद्र बरूआ महेश्वर विधानसभा के उपचुनाव में अहम जिम्मेदारी निभाएंगे. उनके सागर संभाग के संभागीय संगठन मंत्री रहते भाजपा ने जबेरा का उपचुनाव विपरीत परिस्थितियों में भी जीता था. अब वह इंदौर संभाग की जिम्मेदारी निभा रहे हैं तो श्री झा ने महेश्वर की तैयारियों का जिम्मा उन्हें सौंपा है.

Related Posts: