प्रणव मुखर्जी और टीम अन्ना के बीच देर शाम बातचीत शुरू

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि सरकार को जनलोकपाल बिल मंजूर है. प्रधानमंत्री का कहना है कि सरकार को लोकपाल बिल की तरह जनलोकपाल बिल मंजूर है. प्रधानमंत्री ने कहा है कि अगर लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार इजाजत दें तो सरकार जनलोकपाल बिल को संसद की स्थायी समिति को भेज सकते हैं. प्रधानमंत्री ने इस संबंध में अन्ना हजारे को एक पत्र लिखा है. हालांकि प्रधानमंत्री ने यह साफ नहीं किया है कि सरकार अपना लोकपाल बिल वापस लेगी या नहीं. प्रधानमंत्री ने पत्र में अन्ना हजारे से अनशन तोडऩे की अपील की है. इधर अन्ना के सहयोगी और कर्नाटक के पूर्व लोकायुक्त संतोष हेगड़े ने भी अन्ना से अनशन तोडऩे की अपील की है. गौरतलब है कि अन्ना हजारे रामलीला मैदान में पिछले आठ दिन से अनशन पर बैठे हैं.

Related Posts:

मुझे उठा ले जाने दो, आप जेल भरो : अन्ना
श्री श्री रविशंकर और दिग्गी ट्विटर पर भिड़े
राजनयिक पर दुष्कर्म के आरोप, आंख खोलने वाली घटना : मेनका
45 हजार करोड़ का टेलीकॉम घोटाला ! कांग्रेस ने लगाया आरोप
गाय किसी जाति या धर्म की नहीं , किसानों की मेरुदंड : राधा मोहन
मोदी की ‘मन की बात’ को मतदान केंद्रों तक किया जाएगा प्रसारित