अफगानिस्तान में मस्जिदों में बम धमाके, 48 की मौत

काबुल, 5 दिसंबर. शिया मुसलमानों के पवित्र दिन आशूरा [मुहर्रम का दसवां दिन] पर अफगानिस्तान में दो मस्जिदों में हुए बम धमाकों में 48 लोगों की मौत हो गई जबकि सौ लोगों के घायल होने की आशंका है.

ये विस्फोट काबुल और उत्तरी शहर मजार-ए-शरीफ की मस्जिदों में हुए. अभी तक किसी ने इन विस्फोटों की जिम्मेदारी नहीं ली है. पुलिस के अनुसार काबुल की अब-अल-फैजल मस्जिद में बड़ा धमाका हुआ, जिसमें चालीस से ज्यादा लोग मारे गए. मरने वालों सभी शिया मुस्लिम हैं. ये लोग अशूरा पर्व मनाने के लिए इकठ्ठा हुए थे. उल्लेखनीय है कि तालिबान शासन के समय में शियाओं के यह पर्व सार्वजनिक रूप से मनाने पर रोक लगाई गई थी. सुरक्षाबलों के सूत्र का कहना है कि हमलावर श्रद्धालुओं की भीड़ के साथ मस्जिद में पहुंचा था. वहीं, मजार-ए-शरीफ की मस्जिद में हुए विस्फोट में चार लोग मारे गए हैं. पुलिस अधिकारी के अनुसार, यहां एक साइकल में बम छुपा कर रखा गया था. ये विस्फोट अफगानिस्तान के भविष्य को लेकर जर्मन शहर बॉन में हुई अंतरराष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस के तत्काल बाद हुए हैं. तालिबान और पाकिस्तान ने इस कांफ्रेंस से खुद को अलग रखा था.

पुलिस के मुताबिक 20 की मौत
हालांकि धमाकों में मारे गए लोगों की संख्या पर पुख्ता जानकारी नहीं मिली है. पुलिस पहले धमाके में 20 लोगों के मारे जाने की बात कह रही है. जबकि सूत्रों से मिली जानकारी में 30 लोगों की मौत हुई है. दोनों धमाके मुहर्रम के मौके पर किए गए हैं.

इराक में श्रद्धालुओं पर बम हमले में 28 की मौत

हिल्ला [इराक]. आशुरा के ठीक एक दिन पहले इराक में शिया श्रद्धालुओं को निशाना बनाकर किए गए हमले में 28 लोगों की मौत हो गई और 78 जख्मी हो गए.

बगदाद में 27 अक्टूबर को दोहरे विस्फोट की घटना के बाद यह सबसे बड़ा खूनी दिन रहा, जिसमें कम से कम 32 लोगों की मौत हो गई थी और 71 लोग घायल हो गए थे. सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि मध्य इराक में कल के घातक हमले में बगदाद के दक्षिण और हिल्ला के उत्तार नील इलाके में एक कार धमाका हुआ. हिल्ला अस्पताल के डाक्टर मोहम्मद अली ने बताया कि 16 शव और 45 जख्मी मिले हैं. हिल्ला के पुलिस फर्स्ट लेफ्टिनेंट ने भी इसकी पुष्टि की है. पुलिस अधिकारी ने यह भी बताया कि एक कार विस्फोट हिल्ला में शिया श्रद्धालुओं के करीब धमाका हुआ जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई और तीन घायल हो गए. हिल्ला के एक अन्य अस्पताल के अधिकारी ने एक शव और 20 लोगों के जख्मी होने की बात स्वीकार की. बगदाद में भी शिया श्रद्धालुओं को निशाना बनाकर किए हमले में कम से कम 10 लोग मारे गए और 30 घायल हो गए. इसके अलावा अन्य घटनाओं में भी श्रद्धालु मारे गए.

Related Posts: