• उप्र में पहले चरण का मतदान आज

लखनऊ, 7 फरवरी. उप्र के चुनावी महासमर में पहले चरण में आज मतदान होगा. इस बीच कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा है कि अगर यूपी में किसी पार्टी को बहुमत नहीं मिला तो प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगेगा. दिग्विजय ने साफ किया है कि कांग्रेस यूपी में सरकार बनाने के लिए एसपी और बीएसपी से न तो समर्थन लेगी और ना ही इन पार्टियों को अपना समर्थन देगी.

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए चल रहा चुनाव प्रचार सोमवार शाम को थम गया. चुनाव प्रचार के आखिरी दिन चुनाव मैदान में उतरे लगभग सभी राजनीतिक दलों के नेताओं ने शाम पांच बजे तक करीब सौ जनसभाएं कर धुआंधार प्रचार किया. इस दौरान नेताओं ने एक दूसरे पर जमकर हमले किए. पहले चरण में 10 जिलों की 55 विधानसभा सीटों पर 8 फरवरी को मतदान होगा. पहले चरण के मतदान से करीब 48 घंटे पहले कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने सोमवार को वाराणसी में संवाददाता सम्मेलन करके विरोधियों को चुनाव में कांग्रेस को हल्के में न लेने का संदेश देते हुए कहा कि प्रदेश में कांग्रेस मजबूती से खड़ी होकर पिछले विधानसभा चुनाव से बेहतर प्रदर्शन करेगी. मायावती ने चुनाव प्रचार में कांग्रेस पर अपना हमला जारी रखते हुए  दोहराया कि कांग्रेस अगर उत्तर प्रदेश की सत्ता में आ गई तो फिर से बेरोजगारी और गरीबी बढ़ जाएगी. उन्होंने लोगों को चेताते हुए कहा कि उत्तर प्रदश में सबसे ज्यादा करीब 40 साल तक कांग्रेस ने शासन किया है और कांग्रेस की गलत नीतियों के कारण उत्तर प्रदेश पिछड़ा और यहां गरीबी-बेरोजगारी बढ़ी. लोगों को रोजी रोटी के लिए दूसरे प्रांतों में जाना पड़ा.

मायावती ने कुशीनगर और गोरखपुर में जनसभाएं कीं. समाजवादी पार्टी(सपा) मुखिया मुलायम सिंह ने मायावती सरकार को भ्रष्टतम करार देते हुए कहा कि मैंने बसपा सरकार जैसी भ्रष्ट सरकार अपने जीवन में कभी नहीं देखी. सरकार ने पूरे शासनकाल के दौरान केवल जनता के पैसे को लूटा है. मुलायम ने आजमगढ़ और मऊ में जनसभाएं की. भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष नितिन गडकरी ने सपा और कांग्रेस पर परिवारवादी होने का आरोप लगाते हुए कहा कि सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव का एक मात्र सपना अपने पुत्र अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाना है. कांग्रेस अध्यक्ष का पद गांधी परिवार के लिए आरक्षित है. चिदम्बरम, प्रणब मुखर्जी मंत्री तो बन सकते हैं लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष बनने का सपना भी नहीं देख सकते. भाजपा नेता उमा भारती ने बाराबंकी, फैजाबाद और आजमगढ़ में, राजनाथ सिंह ने अम्बेडकरनगर और गाजीपुर में चुनावी जनसभाएं की. सपा प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश यादव ने फैजाबाद, बहराइच और सीतापुर में और सपा नेता शिवपाल सिंह यादव ने बस्ती और गोंडा में जनसभाएं की. केंद्रीय मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल ने गोरखपुर और महाराजगंज, सांसद राजबब्बर ने सीतापुर और फैजाबाद, कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने बहराइच और इलाहाबाद, सांसद मोहम्मद अजहरद्दीन ने गोंडा में प्रत्याशियों के पक्ष में जनसभाएं की. जनक्रांति पार्टी(राष्ट्रवाद) के संरक्षक कल्याण सिंह ने सीतापुर और हरदोई में जनसभाएं की. पहले चरण में जिन 10 जिलों में मतदान होगा, उसमें बाराबंकी, सीतापुर, फैजाबाद, अम्बेडकर नगर, श्रावस्ती, गोंडा, बलरामपुर, बहराइच, बस्ती और सिद्धार्थनगर शामिल हैं. जिन 55 सीटों पर पहले चरण का मतदान हो रहा है उसमें से 30 बसपा, 18 सपा, 4 भाजपा और 3 कांग्रेस के कब्जे में है. पहले चरण में मैदान में उतरे कुल 867 प्रत्याशियों की किस्मत दांव पर है. कुल मतदाताओं की संख्या करीब 1.70 करोड़ है, जिसमें पुरुषों की संख्या करीब 92 लाख और महिलाओं की संख्या करीब 77 लाख है.

यूपी में चुनावी सभाओं को संबोधित करेंगे प्रधानमंत्री

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह उत्तर प्रदेश में दो चुनावी सभाओं को संबोधित करेंगे. यह जानकारी आधिकारिक सूत्रों ने सोमवार को दी. प्रधानमंत्री जिन स्थानों पर सभाएं करेंगे, उनकी पहचान अभी नहीं हुई है, लेकिन इतना तय है कि वह पूर्वी और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अलग-अलग दो सभाएं करेंगे. सूत्रों ने कहा कि एक चुनावी सभा अगले सप्ताह हो सकती है. ज्ञात हो कि उत्तर प्रदेश विधानसभा के लिए मतदान सात चरणों में होना है. पहले चरण का मतदान बुधवार को होगा. अंतिम चरण का मतदान तीन मार्च को होगा.

Related Posts: