उपभोक्ताओं को गुणवत्तापूर्ण विद्युत आपूर्ति प्राथमिकता

भोपाल,23 मई,नभासं.ऊर्जा राज्य मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने कहा है कि भौतिक लक्ष्यों की पूर्ति में किसी प्रकार की ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जायेगी. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि लक्ष्यों की पूर्ति में तेजी लाई जाये.

उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं को सुचारु तथा गुणवत्तापूर्ण विद्युत प्रदाय राज्य शासन की प्राथमिकता है. शुक्ल ने आज यहाँ भोपाल, सीहोर तथा रायसेन जिलों के विधायकों के साथ विकास कार्यों तथा विद्युत वितरण व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे. उन्होंने जन-प्रतिनिधियों की प्राथमिकताओं और सुझावों को सुना तथा बिजली व्यवस्था में सुधार के दिशा-निर्देश दिये.शुक्ल ने कहा कि यह वर्ष वितरण क्षेत्र के लिये बहुत महत्वपूर्ण है. वर्ष 2013 से ग्रामीण घरेलू उपभोक्ताओं को 24 घंटे तथा कृषि कार्य के लिये 8 घंटे गुणवत्तापूर्ण विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की जायेगी.शुक्ल ने कहा कि फीडर सेपरेशन और राजीव गाँधी विद्युतीकरण योजना के कार्यों में तेजी लाई जाये. उन्होंने कहा कि फीडर विभक्तिकरण के कार्य पूरे होते ही मध्यप्रदेश के बिजली क्षेत्र की तस्वीर बदल जायेगी.

उन्होंने कहा कि गैर-कृषि एवं कृषि कार्य के लिये विद्युत लाइनों को पृथक-पृथक करने तथा 11 के.व्ही. की विद्युत आपूर्ति लाइनों का कार्य समय-सीमा में पूरा हो, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में सुचारु तथा गुणवत्तापूर्ण विद्युत प्रदाय हो सके. शुक्ल ने बिजली वितरण नेटवर्क को चुस्त-दुरुस्त करने पर बल देते हुए कहा कि हर हाल में बिजली की स्थिति में और सुधार के लिये जवाबदेही तय होना चाहिये.शुक्ल ने बताया कि आगामी रबी सीजन में किसानों को सुचारु विद्युत प्रदाय करने के लिये अभी से तैयारियाँ शुरू कर दी गई हैं. आवश्यकता अनुसार अतिरिक्त ट्रांसफार्मर लगाने तथा स्थापित ट्रांसफार्मर की क्षमता बढ़ाने के लिये भी अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश दिये गये हैं. साथ ही ट्रांसफार्मर फेल होने की शिकायतों के निराकरण के लिये भी आवश्यक कदम उठाने को कहा गया है.

Related Posts: