नई दिल्ली, 21 दिसंबर,  संसद ने देश में पेट्रोलियम पदार्थो की पाइपलाइनों को क्षतिग्रस्त करने के दोषियों को अधिकतम मृत्यदंड के प्रावधान वाले विधेयक को बुधवार को अपनी मंजूरी प्रदान कर दी. आतंकी कृत्यों के लिए न्यूनतम दस साल की सजा के प्रावधान वाले पेट्रोलियम और खनिज पाइपलाइन विधेयक को आज राज्यसभा की ध्वनिमत से मंजूरी मिल गई. लोकसभा इसे पहले ही पारित कर चुकी है.

वीओआरएल में सुरक्षा बढ़ी
पिटोल 21 दिसंबर. झाबुआ जिले के समिप कालाखूंट में मंगलवार को उजागर हुई भारत ओमान रिफायनरी प्रा.लि. की वीबीपीएल (वाडीनार वीना पाईप लाईन) राष्ट्रीय परियोजना में पाईप लाईनल पर वॉल्व लगाकर चोरी किये जाने की घटना की आशंका के बाद कंपनी ने सुरक्षा बढ़ा दी है, वही कंपनी के निजी सुरक्षा गार्डो ने जिज्ञासावंश घटनास्थल पर पहुंच रहे लोगों का जाना प्रतिबंधित कर दिया. मिडिया को भी फोटोग्राफी एवं विडियोंग्राफी से दूर रखा जा रहा है.  उल्लेखनिय है कि यहां से लगभग 15 किलोमीटर दूर  गुजरात की सीमा से लगे पिटोल में जमीन के अंदर बिछायी गयी अतिसुरक्षित मानी जाने वाली पाइप लाइन में अज्ञात व्यक्तियों द्वारा सेंध लगाने के प्रयास का सनसनीखेज मामले सामने आया था.

राज्य के सागर जिले के आगासौद में भारत ओमान रिफायनरी लिमिटेड (बीओआरएल) का अत्याधुनिक तेलशोधक संयंत्र स्थापित है. जिसमें कच्चे तेल, क्रेड, आयल, का शोधन कर पेट्रोल और अन्य पेट्रोलियम पदार्थ तैयार किए जाते हैं. इस संयंत्र के लिए क्रूड आयल की आपूर्ति के लिए गुजरात के वाडीनार से आगासौद तक नौ सौ से अधिक किलोमीटर लंबी पाइप लाइन बिछायी गयी है, जो पिटोल से होकर गुजरती है. पुलिस सूत्रों के अनुसार अज्ञात लोगों ने पिटोल के पास भूमि की खुदायी की और कच्चा तेल (क्रूड आयल) निकालने के लिए पाइपलाइन पर क्लैंप लगाए. इसी बीच इस घटनाक्रम की जानकारी सुरक्षा कर्मचारियों को लग गयी और उन्होंने तत्काल सक्रियता दिखाते हुए पुलिस को इसकी सूचना दी. इस घटना के बाद दर्जनों सुरक्षा कर्मचारियों ने क्षेत्र को अपने कब्जे में लेकर वहां पर किसी के भी आने-जाने पर रोक लगा दी.

Related Posts: