मामले में तीन पुलिस अधिकारी निलंबित

पटना, 6 दिसंबर. बिहार विधानसभा में विरोध दर्ज कराने के लिए एक विधायक द्वारा धान की बोरी ले जाने संबंधी मामले में तीन पुलिस अधिकारियों को निलंबित किया गया है. पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने इसे विधानसभा की सुरक्षा में चूक का मामला मानते हुए उन्हें निलंबित कर दिया.

विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन जगदीशपुर के राष्ट्रीय जनता दल [राजद] विधायक दिनेश कुमार सिंह एक ठेले पर धान की बोरी और उसके फसल के बोझे को रखकर विधानसभा पहुंचे. उनका आरोप है कि सरकार ने किसानों से धान खरीदने के लिए क्रय केंद्र खोलने की घोषणा तो अवश्य कर दी, परंतु अब तक एक भी केंद्र नहीं खोला गया है. यही कारण है कि सरकार का ध्यान आकर्षित करने के लिए ऐसा किया गया. विधायक ठेले पर बोरी रखकर सीधे विधानसभा की पोर्टिको तक पहुंच गए. इस बीच न बोरी की जांच की गई और न ही उन्हें रोकने की कोशिश की गई. इस कार्य के लिए विधायक को मीडिया कवरेज तो मिल गया, लेकिन विधानसभा की सुरक्षा में तैनात तीन सहायक निरीक्षकों [एसआई] मुकेश कुमार, एसके सिंह और मोहम्मद ग्यासुद्दीन को निलंबित कर दिया गया. पुलिस अधिकारी का कहना है कि उनकी बोरी की जांच नहीं की गई जो सुरक्षा में चूक का मामला है. इस कारण यह कार्रवाई की गई है तथा पूरे मामले की जांच के आदेश भी दे दिए गए हैं.

Related Posts: