अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा को जब राउडी राठौड के गीत छम्मक छल्लो पर शास्त्रीय नृत्य करना था तो मानो सोनाक्षी के तो पसीने ही छूट गये. लेकिन सोनाक्षी की मदद की कोरियोग्राफर सरोज खान ने जिसमें सोनाक्षी कामयाब रही और सरोज ने खुश होकर सोनाक्षी को बख्शीश स्वरूप 101 रुपये दिये. शास्त्रीय नृत्य से कोसों दूर भागने वाली सोनाक्षी सिन्हा को छम्मक छल्लों गीत पर शास्त्रीय नृत्य करना था और जिसे सिखाने का जिम्मा दिया गया है

कोरियोग्राफर सरोज खान को. सोनाक्षी सिन्हा को डांस करना पसंद हैं लेकिन छम्मक छल्लों करना उन्हें कुछ मुश्किल लग रहा था क्योंकि यह कोई साधारण नृत्य नही बल्कि शास्त्रीय नृत्य था. सोनाक्षी ने कहा कि मैंने अपनी जिंदगी में कभी शास्त्रीय नृत्य नही किया इसलिए मुझे यह बहुत मुश्किल लगता है. लेकिन सरोज जी के निर्देशन में मैंने जैसे ही पहला शॉट दिया तो वहां उपस्थित टीम ने तालियां बजाकर मेरा हौंसला बढ़ाया और सरोज जी ने बख्शीश स्वरूप मुझे 101 रुपये दिये तो मेरी आंखों से आंसू छलक पड़ें.

 

Related Posts: