• रूस से की वार्ता

वाशिंगटन, 17 अगस्त. अमेरिका ने दावा किया है कि उसने सीरिया के हालात के बारे में रूस के साथ ‘गंभीर’ वार्ता की है. सीरिया में खूनी संघर्ष के मुद्दे पर असहमति जताने के कुछ महीनों बाद अमेरिका ने वहां राजनैतिक परिवर्तन के लिए दोबारा आह्वान किया है.

एक बयान में कहा गया कि राजनीतिक मामलों की उप विदेश मंत्री वेंडी शेरमैन ने मास्को में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ काफी गंभीर चर्चा की थी. शेरमैन ने संयुक्त राष्ट्र पर्यवेक्षक मिशन खत्म करने के फैसले के प्रति अमेरिकी समर्थन के बारे में विस्तार से बताया था. यह मिशन वहां संघर्ष विराम पर नजर रखने के लिए था जबकि असल में संघर्ष विराम की स्थिति थी ही नहीं.

उन्होंने कहा, ‘राजनैतिक प्रक्रिया की शुरुआत अंतरराष्ट्रीय समुदाय के दीर्घकालीन हित में है.Ó रूस सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद का मुख्य समर्थक है. अमेरिका लगातार मास्को से सीरिया में हिंसा खत्म करने के अधिक उपाय करने के लिए कहता रहा है. सीरिया में हुई हिंसा में पिछले 17 महीनों में 23 हजार लोग मारे जा चुके हैं. दूसरी ओर मास्को ने वाशिंगटन पर आरोप लगाया है कि वह सीरियाई विपक्ष को अपना समर्थन देकर इस विवाद को लंबा खींच रहा है. संयुक्त राष्ट्र में रूस के दूत विताली ने पहले कहा था कि जो राष्ट्र संयुक्त राष्ट्र पर्यवेक्षक मिशन को खत्म करने के समर्थन से इंकार कर रहे हैं, उन्होंने कभी दुश्मनी खत्म करने के लिए प्रतिबद्धता नहीं दिखाई है. शेरमैन ने रूस से ईरान के विवादित परमाणु कार्यक्रम के बारे में भी बात की और कहा कि अभी भी कूटनीति के जरिए सफलता पाई जा सकती है.

ओबामा संग चीन का व्यवहार ‘डोरमेट’ जैसा : रेयान

रिपब्लिकन पार्टी के उप राष्ट्रपति पद के प्रत्याशी पॉल रेयान ने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा पर आरोप लगाया है कि वह चीन को उनके साथ ‘डोरमेट’ जैसा व्यवहार करने की इजाजत देते हैं. वह उसकी आर्थिक धोखाधड़ी को रोकने में नाकाम रहे हैं.  ओहायो में अपने एक अभियान के दौरान रेयान ने कहा कि चीन ने हमारा बौद्धिक संपदा अधिकार चुराया, उसने अपने बाजारों तक पहुंचने का रास्ता बंद कर दिया, वह अपनी मुद्रा को मनमाने तरीके से इस्तेमाल करते हैं. ओबामा ने कहा था कि वह चीन के साथ हर स्तर पर बातचीत करेंगे, इसकी बजाय चीन ओबामा के साथ ‘डोरमेट’ जैसा बर्ताव कर रहा है.

वहां मौजूद लोगों की तालियों के बीच रेयान ने कहा, ‘हम ऐसा होने नहीं देंगे. मिट रोमनी (राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन प्रत्याशी) और मैं चीन की धोखाधड़ी पर हल्ला बोलेंगे और सुनिश्चित करेंगे कि अमेरिकियों के लिए व्यापार के रास्ते खुलें. विदेश नीति पर पहली बार धावा बोलते हुए रेयान ने कहा कि सामान यहां बनाएं, उसे वहां बेचें. यहां उत्पादन करें और पूरे विश्व में बेचें और नौकरियां सृजित करें. सांसद रेयान को मुख्य रूप से वित्तीय मुद्दों के विशेषज्ञ के तौर पर जाना जाता है. वह सदन की बजट समिति के अध्यक्ष हैं. उन्होंने कहा कि शांति और समृद्धि के लिए मुक्त व्यापार एक शक्तिशाली औजार है, लेकिन हमारे व्यापार सहयोगियों को नियम के मुताबिक चलने जरूरत है.

Related Posts: