9 आतंकी समेत 10 मारे गए

इस्लामाबाद, 16 अगस्त.  आधुनिक हथियारों से लैस और आत्मघाती जैकेट पहने तालिबानी आतंकवादियों ने आज तड़के पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में कामरा स्थित वायु सेना के एक महत्वपूर्ण ठिकाने पर हमला किया. दोनों तरफ से भीषण गोलीबारी में नौ हमलावर और एक सुरक्षाकर्मी की मौत हो गई और परिसर के कुछ हिस्सों में आग लग गई. ऐसा समझा जाता है कि वायु सेना के इस महत्वपूर्ण ठिकाने में परमाणु हथियारों का भंडार है.

प्रतिष्ठान में बेहद कड़ी सुरक्षा व्यवस्था होने के बावजूद सैन्य वर्दी पहने आतंकवादी तड़के करीब दो बजे राजधानी से सिर्फ 40 किलोमीटर के फासले पर पंजाब प्रांत स्थित कामरा हवाई ठिकाने में घुस गए. हमलावरों ने कम से कम तीन अवरोध पार किए और एफ-16 और चीन में बने जेएफ-17 विमानों को निशाना बनाने का प्रयास किया. आतंकवादियों ने यह दुस्साहसिक हमला अमेरिकी रक्षा मंत्री लियोन पेनेटा के पाकिस्तान के परमाणु हथियारों के आतंकवादियों के हाथ में पडऩे को लेकर डर जताए जाने के एक दिन बाद किया है.

पंजाब के अटक जिले में स्थित यह हवाई ठिकाना न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक उन महत्वपूर्ण स्थानों में से एक है, जहां पाकिस्तान के परमाणु हथियारों का भंडार है. ऐसा माना जाता है कि इस ठिकाने पर पाकिस्तान ने अपने कम से कम एक सौ आयुध रखे हैं. खबरिया चैनलों की खबरों के अनुसार, रॉकेट से दागे जाने वाले ग्रेनेडों और स्वचालित हथियारों से लैस हमलावरों ने साब 2000 निगरानी विमानों को निशाना बनाने की भी कोशिश की.
पाकिस्तानी वायु सेना के एक प्रवक्ता ने कहा कि हवाई ठिकाने के भीतर आठ आतंकवादी मारे गए जबकि एक ने परिसर के भीतर जहां वह छिपा हुआ था वहां विस्फोट में खुद को उड़ा लिया. हमले में एक सैनिक की भी मौत हुई जबकि हवाई ठिकाने के कमांडर एयर कोमोडर मोहम्मद आजम को हमलावरों के खिलाफ अभियान का नेतृत्व करने के दौरान कंधे में गोली लगी. यह अभियान तीन घंटे से अधिक समय तक चला. प्रवक्ता ने बताया कि आजम सुरक्षित हैं और उनकी हालत स्थिर है.

उन्होंने कहा कि हमलावरों द्वारा रॉकेट से ग्रेनेड दागे जाने की घटना में एक विमान क्षतिग्रस्त हुआ. उन्होंने विमान के बारे में या किस हद तक वह क्षतिग्रस्त हुआ है इसके बारे में जानकारी नहीं दी. प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तानी वायु सेना के मिन्हास ठिकाने के सुरक्षा अधिकारियों द्वारा चलाया गया तलाशी एवं जांच अभियान पूरा हो गया है. उन्होंने बताया कि हवाई ठिकाने के भीतर कुछ विस्फोटक उपकरण पाए गए और विस्फोटक विशेषज्ञ नियंत्रित वातावरण में उन्हें उड़ाने का प्रयास कर रहे हैं.

तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान ने हमले की जिम्मेदारी ली है. तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के प्रवक्ता एहसानुल्ला इंसान ने कहा कि तालिबान कमांडर बैतुल्ला महसूद और अलकायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन की मौत का बदला लेने के लिए समूह के आत्मघाती हमलावरों ने इसे अंजाम दिया. उसने दावा किया कि हमलावरों ने अपना लक्ष्य हासिल किया और सुरक्षा बलों को प्राणघातक धक्का दिया.

Related Posts: