औबेदुल्लागंज,25 मई, नभासं. राजनैतिक गुंडागर्दी क्षेत्र में सिरचढ़ कर बोलने लगी है. गुरूवार को एक क्षेत्रीय नेता व उसकी साथियों ने औबेदुल्लागंज तहसीलदार पर जानलेवा हमला कर दिया. जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गए. तहसीलदार को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया.

पुलिस ने आरोपी नेता समेत एक अन्य को गिरफ्तार किया है. मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी नेता वाला सैन भाजपा नेता है  उसका साथी उमाशंकर राजपूत होटल व्यवसायी है. यह दोनों मिलकर तहसीलदार डीएस तोमर पर फर्जी तरीके से जमीन का नामांतरण कराने का दबाव बना रहे थे. बताया जाता है कि गुरूवार को तहसील दार कार्यलय में तहसीलदार और राजपूत के बीच कहा-सूनी हूई थी. बताया जाता है कि शुक्रवार को राजपूत किसी काम को लेकर तहसीलदार के निवास पहुंचे था. इसीदरमियान दोनों के बीच किसी बात को लेकर बहस हो गई. बताया जाता है कि झूमा झटकी से शुरू हुआ विवाद लात-झूंसों तक जा पहुंचा. गंभीर हालत में अपनी जान बचा घर से भागे तहसीलदार तोमर थाने जा पहुंचे.

उन्होंने वहां इन दोनों आरोपियों पर हमले की रिपोर्ट दर्ज कराई. वहीं, आरोपी सोनी ने थाने में बताया की तोमर ने झूठी निराधार रिर्पोट कराई है,मेरा नाम बिना कारण के जोड़ा गया है. ज्ञामव्य है की दिछले हफते बाला सेनी ने कलेक्टर व पुलिस अधिक्षक को लिखित आवेदन दिया था की तहसीलदार ने मेरे साथ गाली-गलोच की.वही आश्चरर्य मगर सम्य है की नप अध्यक्ष एंव पार्षदों ने भी तहसीलदार के खिलाफ  दो दिन पहले धरना दिया था. वहीं पार्षद वीरेन्द्र चौहान को कड़े शब्दो में कहा था की ज्यादा बोलेगा तो एफआईआर करा देंगे.एक भाजापा नेता सोनू चोकसे को एक ही प्रकरण में दो बार जेल भिजबा दिया.

वारहाल इन घटनाऔ से तहसीलदार का भय व्यापत है.जन चर्चा है की एक राजपूत ने धरना दिया तो दूसरे राजपूत से तनातनी के कारण नेताऔ से भी ज्यादा चर्चा में है तहसीलदार.थाने से जानकारी मिली है की आरोपी उमाशंकर उर्फ गोलू थाने में चक्कर आने से गिर गये और उन्हें भोपाल रिफर किया गाया है.श्री राजपूत के परिवार वालो से जानकारी मिली है की यह झूठी रिर्पोट कर उन्हे फसाया गाया है.तहसीलदार श्री तोमर से चर्चा अनुसार कल गुरुवार को भी राजपूत ने उनके साथ दुरव्यावहार किया और गाला गालोच दी थी और जब पुलिस को बुलाया तो वह भाग गाया.आज इस घटना से नगर पंचायत कर्मचारी संघ ने शाम को 1 घण्टे का धरना देकर एसडीएम को ज्ञापन दिया.

Related Posts: