भोपाल, 6 सितंबर. बालाजी गणेश उत्सव समिति के तत्वावधान में 7 सितंबर को विशाल महाआरती का आयोजन रात्रि 8 बजे शगुन होटल के सामने भवानी चौक सोमवारा में रखा गया है.
इस महाआरती में दिलीप खण्डेलवाल, विभाग अध्यक्ष विश्व हिन्दू परिषद विश्वास सारंग विधायक रमेश शर्मा गुट्ïटू भैया, जितेन्द्र डागा, विधायक एवं पार्षद राधा सिंहल, स्वाती कौषल एवं शहर के गणमान्य नागरिक श्री गणेश जी महाआरती में शामिल होंगे. समिति प्रमुख शेखर सोनी ने बताया कि महाआरती के पश्चात सभी अतिथियों का प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया जायेगा. समिति के सदस्य आकाश श्रवण, तनुज साहू, राहुल यादव, भास्कर दुबे, अमित साहू, राज रायकवार, राजेश धर्मदसानी, कुनाल साहू, रोहित यादव, आकाश टंडन, नीरज विश्वकर्मा, विक्की टंडन, दीपेश साहू, आशीश श्रवण, प्रशांत श्रवण, हिमांशु विश्वकर्मा दीपक विश्वकर्मा, देव श्रवण आदि ने अपील की है.

महापौर ने की भगवान गणेश की पूजा-अर्चना- गणेशोत्सव के दौरान महापौर कृष्णा गौर ने शहर के विभिन्न स्थानों पर भगवान श्री गणेश की झाकियों पर पहुँचकर पूजा-अर्चना की एवं आरती में भाग लिया. महापौर कृष्णा गौर ने बाग सेवनियां स्थित रेत बाजार के समीप स्थित भगवान गणेश की झांकी पर पहुँचकर पूजा-अर्चना की साथ ही उन्होंने साकेत नगर में बीडीए काम्पलेक्स तथा बरखेड़ा पठानी में विजय मार्केट स्थित झांकियों पर पहुँचकर भगवान गणेशजी की पूजा-अर्चना की एवं आरती में भाग लिया. इस अवसर पर पर विधायक प्रतिनिधि केवल मिश्रा के अलावा सुंदर सिंह परमार, वीरेंद्र त्रिपाठी, मालती पाण्डे, पप्पू विश्वकर्मा, दलजीत सिंह, तोरण सिंह मारण सहित बड़ी संख्या में श्रद्घालुगण भी मौजूद थे.

भक्ति की हुई जीत- दस दिवसीय गणेश जन्मोत्सव मेला ऐतिहासिक रहेगा सीहोर ऐतिहासिक सिद्घ विनायक गणेश मंदिर पर हुआ चमत्कार भक्ति की हुई जीत मंदिर के मुख्य पुजारी व्यवस्था पं. नरेन्द्र व्यास ने बताया कि चतुर्थ के शुभ अवसर पर भगवान गणेश की अटूट कृपा हमारे परिवार पर बरसी व भक्ति की जीत हुई.

सर्वोच्च न्यायालय 15 अगस्त को अपने आदेश में कान्ता देवी व्यास पुत्र नरेन्द्र व्यास के पक्ष में आदेश पारित किये जिसका पालन प्रचुल्लभ धुर्वे ने नहीं किया और शासन प्रशासन को जनता जन्म दिन को धर्म प्रेमी मानस में दुर्भाव में फैलाते रहे तथा 25 अगस्त को जब व्यास को प्रजल्लब दुबे व शासन प्रशासन ने चार्ज नहीं दिलाया तो सर्वोच्च न्यायालय की अवमानना मानते हुए दुबे के विरुद्घ सर्वोच्च न्यायालय में कान्तादेवी व्यास ने पं. नरेन्द्र व्यास ने याचिका दायर की जिसकी सुनवाई 1 सितंबर गणेश चतुर्थी के पावन मय पर्व पर हुई जिसमें माननीय सर्वोच न्यायालय ने न्याय का परिपालन नहीं करने पर प्रचुल्लभ दुबे शासन-प्रशासन के प्रति गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए 5 अगस्त के आदेश को श्रीमती कान्तादेवी व्यास के पक्ष में बताया और कहा कि आज ही श्रीमती कान्तादेवी व्यास को श्री गणेश मंदिर के समस्त चार्ज सौंपे जाये.

आदेश का परिपालन जिलाध्यक्ष ने मंदिर पर ए.डी.एम. और तहसीलदार को भेजकर रात्रि 12 बजे गणेश मंदिर के समस्त चार्ज श्रीमती कान्ता देवी व्यास पंडित नरेन्द्र व्यास पुजारी व्यवस्था पद सौंपा गया. दिन भर सीहोर नगर में चारों ओर खुशी का माहौल था गणेश जी के चमत्कार के चर्चा और भक्ति की जीत की बात आग की तरह फैल गई और चारों ओर से गणेश जी की जय-जयकार के उद्ïघोष सुनाई दिये.

Related Posts: