हमीरपुर, 15 फरवरी. समाजवादी पार्टी मुखिया मुलायम सिंह यादव ने बुधवार को पहली बार उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस से सम्भावित गठबंधन का स्पष्ट संकेत देते हुए कहा कि चुनाव के बाद अगर बीजेपी सत्ता में आने की स्थिति में दिखी तो वह कांग्रेस को समर्थन देंगे।

यादव ने जिले की हमीरपुर सदर तथा राठ सीट से एसपी प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित जनसभाओं में कहा कि प्रदेश में एसपी की लहर चल रही है और वह चुनाव के बाद राज्य में अपने बलबूते पर सरकार बनाएगी। उन्होंने कहा कि चुनाव के बाद अगर बीजेपी सत्ता में आने की स्थिति में दिखी तो वह कांग्रेस को समर्थन देंगे। यादव ने कार्यकर्ताओं का आहवान किया कि अब ज्यादा समय नहीं बचा है। मतदाता तैयार हैं, वे बस उन्हें घर से निकालकर मतदान केन्द्र तक ले जाने का काम करें और जनसंपर्क बढ़ाकर ज्यादा से ज्यादा लोगों को एसपी की नीतियों से अवगत कराएं। उन्होंने दोहराया कि चुनाव के बाद प्रदेश में एसपी की सरकार बनने पर गुंडागर्दी खत्म हो जाएगी और हर माफिया को जेल भेजा जाएगा।

राहुल ने टुकड़े-टुकड़े किया सपा का घोषणा-पत्र

लखनऊ। समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को रोकने के लिए कांग्रेस की ओर दोस्ती का हाथ बढाय़ा तो कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी ने आज लखनऊ सभा में सपा के चुनावी वायदा पत्र को फाड़कर एक नए विवाद को जन्म दे दिया।

गांधी ने यहां डीएवी कॉलेज मैदान में हुई सभा में मंच पर सपा का चुनावी वायदा पत्र दिखाया और कहा कि किए गए वायदे झूठे हैं। ऐसे वायदों से जनता दिग्भ्रमित होती हैं। उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह मुफ्त बिजली, पानी देने का वायदा करते हैं लेकिन उसे पूरा नहीं करते। गांधी आज खासे आक्रामक नजर आए और उपस्थित श्रोताओं से कहा कि यदि झूठे वायदे सुनने हैं तो यहां से उठकर चले जाएं। उन्होंने कहा कि झूठे वायदों के लिए बसपा, भाजपा और सपा नेताओं की सभा में आप जा सकते हैं और झूठ का मजा ले सकते हैं। कांग्रेस झूठे वायदे नहीं करती। गांधी की यह प्रतिक्रिया सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के कांग्रेस को समर्थन देने के बयान के बाद आई है। गौरतलब है कि मुलायम ने हमीरपुर में कहा था कि यदि राज्य में भाजपा की सरकार बनती नजर आई तो पार्टी कांग्रेस को समर्थन देगी।

Related Posts: