अहमदाबाद, 1 दिसंबर. गुजरात उच्च न्यायालय ने बहुचर्चित इशरत जहां मुठभेड़ मामले की जांच का जिम्मा सीबीआई को सौंप दिया है।

हाई कोर्ट ने मोदी सरकार को झटका देते हुए कहा है कि इस मामले की जांच के लिए गुजरात पुलिस पर भरोसा नहीं किया जा सकता। अदालत ने एसआईटी को आदेश दिया कि इस मामले में फिर से एफआईआर दर्ज करवाए। मालूम हो कि इशरत जहां के परिवार ने मामले की सीबीआई जांच की मांग की थी। इशरत जहां मुठभेड़ मामले को एसआईटी ने फर्जी करार दिया था। हाईकोर्ट में सौंपी अपनी रिपोर्ट में एसआईटी ने साफ किया कि इशरत सहित चार लोगों का एनकाउंटर गलत था। 15 जून 2004 को इशरत सहित चार लोगों को अहमदाबाद की क्राइम ब्रांच पुलिस ने मार गिराया था। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि अहमदाबाद क्राइम ब्रांच के अफसरों पर हत्या का मुकदमा चले।

Related Posts: