सचिन, लक्ष्मण ने दिखाया जलवा, रोहित भी चमके

कैनबरा, 16 दिसबंर.  महाशतक से एक कदम दूरी पर खड़े सचिन तेंदुलकर और ऑस्ट्रेलियाई आक्रमण को हमेशा निशाने पर रखने वाले वीवीएस लक्ष्मण ने शुक्रवार को भारत और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया अध्यक्ष एकादश के बीच ड्रॉ छूटे अभ्यास मैच में अपनी बल्लेबाजी का जलवा दिखाया जबकि युवा रोहित शर्मा ने भी अर्धशतक जड़कर पहले टेस्ट मैच के लिए अपना मजबूत दावा पेश किया.

तेंदुलकर 92 और लक्ष्मण 57 रन बनाकर रिटायर्ड आउट होकर पवेलियन लौटे ताकि बाकी बल्लेबाजों को भी अभ्यास का मौका मिल सके. इसके बाद शानदार फॉर्म में चल रहे रोहित ने भी नाबाद 56 रन की पारी खेली. इस तरह से बारिश के कारण जब दूसरे और अंतिम दिन समय से पहले मैच अनिर्णीत समाप्त घोषित किया गया तथा भारतीय टीम ने छह विकेट पर 320 रन बनाए थे. भारतीय गेंदबाजों को गुरुवार को जूझना पड़ा था और अध्यक्ष एकादश ने अपनी पारी छह विकेट पर 398 रन बनाकर समाप्त घोषित की थी. लेकिन आज दूसरे ओवर में पहला विकेट गंवाने के बाद भारतीय बल्लेबाजों ने 26 दिसंबर से मेलबर्न में शुरू होने वाले पहले टेस्ट मैच के लिए अच्छा अभ्यास किया. राहुल द्रविड़ ने भी डेढ़ घंटे क्रीज पर बिताकर 45 रन बनाए जबकि गौतम गंभीर ने एक घंटे से अधिक समय तक खेलकर 35 रन की पारी खेली.  भारत ने सुबह अपनी पारी शुरू की लेकिन तीसरे सलामी बल्लेबाज के तौर पर टीम में शामिल किए गए अजिंक्या रहाणे चयनकर्ताओं को प्रभावित नहीं कर पाये और केवल तीन रन बनाकर पवेलियन लौट गए. उन्होंने तेज गेंदबाज जैक हैबरफील्ड की गेंद पर कैमरन बोयस को कैच थमाया. गंभीर और द्रविड़ ने दूसरे विकेट के लिए 74 रन की साझेदारी की. गंभीर ने ग्लेन मैक्सवेल की गेंद पर रेयान ब्रॉड को कैच थमाने से पहले अपनी पारी में छह चौके लगाए. द्रविड़ ने भी खुलकर बल्लेबाजी की और अपनी पारी में आठ बार गेंद सीमा रेखा पार भेजी. अध्यक्ष एकादश के सबसे सफल गेंदबाज बोएस ने उन्हें हालांकि अर्धशतक पूरा नहीं करने दिया.

पिछली 17 अंतरराष्ट्रीय पारियों से 100वें शतक से महरूम रहे तेंदुलकर ने टेस्ट सीरीज से पहले अपनी लय का शानदार नमूना पेश किया जबकि लक्ष्मण ने हमेशा की तरह ऑस्ट्रेलियाई पिचों पर सहजता से बल्लेबाजी की. इन दोनों को अध्यक्ष एकादश के किसी भी गेंदबाज को खेलने में दिक्कत नहीं हुई. तेंदुलकर और लक्ष्मण ने चौथे विकेट के लिए जब 133 रन की साझेदारी की थी तब दोनों बल्लेबाजों ने 61वां ओवर समाप्त होने के बाद क्रीज छोडऩे का फैसला किया. तेंदुलकर तब अपने शतक से केवल आठ रन दूर थे लेकिन उन्हें पता है कि क्रिकेट प्रेमियों को उनके इस शतक की नहीं बल्कि टेस्ट मैचों में सैकड़े का इंतजार है. तेंदुलकर ने 135 गेंद खेली और 15 चौके लगाए. लक्ष्मण की 76 गेंद की पारी में नौ चौके शामिल हैं. भारतीय बल्लेबाजी क्रम में छठे नंबर के स्थान के लिए रोहित और विराट कोहली में मुकाबला है. वेस्टइंडीज के खिलाफ कोहली को तरजीह दी गई थी लेकिन अभ्यास मैच में रोहित प्रभावित करने में सफल रहे. कोहली (1) मैदान पर उतरने के तुरंत बाद बोएस को वापस कैच थमा गए लेकिन रोहित ने दूसरे छोर से बल्लेबाजी का पूरा लुत्फ उठाया और कई दर्शनीय स्ट्रोक खेले. उन्होंने अपनी नाबाद पारी में 80 गेंद का सामना करके आठ चौके और एक छक्का लगाया. विकेटकीपर बल्लेबाज रिद्धिमान साहा 23 रन बनाकर नाबाद रहे.

Related Posts: