• सरकार को मिली राहत

प्रणब और चिदम्बरम के झगड़े सुलझे

नयी दिल्ली, 29 सितंबर, 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन घोटाले के सम्बंध में केंद्रीय वित्त मंत्रालय की ओर से प्रधानमंत्री कार्यालय को भेजे गए नोट से उपजे विवाद का सुखद पटाक्षेप हो गया है.

दिनभर चली बैठकों के दौर के बाद शाम के वक्त केंद्रीय वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी और केंद्रीय गृह मंत्री पी. चिदम्बरम एक साथ मीडिया के समक्ष उपस्थित हुए और विवाद सुलझाने का दावा किया. इस दौरान केंद्रीय दूरसंचार मंत्री कपिल सिब्बल और केंद्रीय कानून मंत्री सलमान खुर्शीद भी उपस्थित थे. मुखर्जी ने मीडिया को सम्बोधित करते हुए कहा कि उनके मंत्रालय की ओर से 2 जी मामले पर जो नोट भेजा गया था वह उनके निजी विचार नहीं थे. मुखर्जी के बयान पर संतुष्टि जाहिर करते हुए चिदम्बरम ने कहा कि वित्त मंत्री के बयान से मैं खुश हूं. मैं इसे स्वीकार करता हूं. उन्होंने कहा कि इस लिहाज से इस मामले को खत्म समझा जाए. इससे पहले मुखर्जी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ अलग-अलग बैठकें की.

बाद में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मुखर्जी और चिदम्बरम सहित अन्य वरिष्ठ मंत्रियों के साथ बैठक की. बैठक के बाद मुखर्जी और चिदम्बरम ने मीडिया को एक साथ सम्बोधित किया. मुखर्जी ने सोनिया गांधी के आवास 1० जनपथ जाकर पहले उनसे मुलाकात की थी. इस दौरान रक्षा मंत्री ए. के.एंटनी और कांग्रेस अध्यक्ष के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल भी थे. इस ताजा विवाद के पैदा होने के बाद मुखर्जी की सोनिया से यह दूसरी मुलाकात थी. चिदम्बरम ने भी सोमवार को गांधी और बुधवार को प्रधानमंत्री से मुलाकात की थी. इस वर्ष 25 मार्च को भेजे गए नोट में कहा गया है कि यदि तत्कालीन केंद्रीय वित्त मंत्री पी. चिदम्बरम चाहते तो स्पेक्ट्रम की नीलामी की जा सकती थी. इस नोट से ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि सरकार के दो वरिष्ठ मंत्रियों मुखर्जी और चिदम्बरम के बीच सब कुछ ठीक नहीं है.

Related Posts: