जरीन खान कहती हैं मुझे अपने दम पर अपना करियर बनाना है. इसलिए मैं एक तरह की भूमिकाएं स्वीकार करने की स्थिति में नहीं हूं. इससे बेहतर है कि मैं साउथ की फिल्मों में काम करूं. साउथ की फिल्मों में कई कलाकारों की मदद की है.

फिल्म वीर और हाउसफुल-2 जैसी बड़ी फिल्मों में काम करने के बावजूद जरीन खान की दाल हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में गलती नहीं दिख रही है. यही वजह है कि वे साउथ की फिल्मों में हाथ आजमाने लगी हैं. हाल-फिलहाल उन्होंने वहां के सुपरस्टार विक्रम के साथ फिल्म करिकालन की है. आगे चिरंजीवी और नागार्जुन के साथ भी कई फिल्में साइन करने वाली हैं. वे कहती हैं, मेरे साथ हिंदी फिल्म इंडस्ट्री का रवैया बेहद अजीब सा रहा है. हर कोई मुझे टाइपकास्ट ही करना चाहता है. ज्यादातर फिल्मकार मुझे मेन लीड में लेने से हिचकिचाते हैं, जबकि मैं अपना काम पूरे मन से करती हूं. मैं जहां भी काम मांगने जाती हूं, हर कोई मुझसे कट्रीना कैफ की तरह फिल्मों में परफॉर्म करने की चाहत रखता है, जो गलत है.

मेरी अपनी पहचान है और मैं अपने तरीके से काम करती हूं. यह अजीब स्थिति है कि मेरा नाम घुमा-फिराकर सलमान खान और कट्रीना के साथ जोड़ा जाता है. सलमान ने मेरे लिए जो किया, उसके लिए मैं आभारी हूं, लेकिन आगे मुझे अपने दम पर अपना करियर बनाना है. इसलिए मैं एक तरह की भूमिकाएं स्वीकार करने की स्थिति में नहीं हूं. इससे बेहतर है कि मैं साउथ की फिल्मों में काम करूं. साउथ की फिल्मों में कई कलाकारों की मदद की है. सोनू सूद को ही देखें. वे हिंदी फिल्मों में चूजी रहे और साउथ की फिल्में स्वीकार करते रहे. अब देखिए उनकी पूछ हिंदी फिल्मों में भी खूब हो रही है.
जरीन की बातों से यही मानना बेहतर है कि आगे-आगे देखिए होता है क्या..?

Related Posts: